ट्रेनो की रफ्तार बढ़ाने के लिए रेलवे को मिल सकता है 3.20 करोड़ का budget

ट्रेनो की रफ्तार बढ़ाने के लिए रेलवे को मिल सकता है 3.20 करोड़ का budget

budget 2024: 400 नई वंदे भारत ट्रेनों की चलाई संभावित! अंतरिम बजट में रुपये की प्रावधानी होगी

अंतरिम बजट 2024: आगामी वित्त वर्ष के लिए अंतरिम बजट 1 फरवरी को आने वाला है। इस बजट से, रेलवे को आधुनिकीकरण  और सुरक्षा बढ़ाने के लिए अधिक धन मिलने की उम्मीद है।

अंतरिम बजट: वित्त मंत्री Nirmala Sitharaman 1 फरवरी को देश का बजट प्रस्तुत करेंगी। जो एक परिवर्तन के दौर में है, उससे भारतीय रेलवे की बड़ी उम्मीदें हैं। माना जाता है कि वित्त मंत्री वंदे भारत और अमृत भारत की सफलता और रेलवे के लिए बड़ी घोषणाएं कर सकती हैं। अंतरिम बजट 2024-25 में भारतीय Railway के लिए पर्याप्त पूंजी आयोजित की जा सकती है।

Railway को 3 लाख करोड़ का बजट मुहैय्या करा सकती है

विशेषज्ञों के अनुसार, बजट के लिए Railway के लिए एक रिकॉर्ड प्रावधान किया जा सकता है, जिसमें 3 लाख करोड़ रुपये शामिल हो सकते हैं। यह पिछले वित्त वर्ष से 25 प्रतिशत अधिक होगा। वित्त मंत्री ने पिछले साल Railway को 2.40 लाख करोड़ रुपये दिए थे। यह 2013-14 में इस राशि से लगभग 9 गुना अधिक था।

बजट में Railway के आधुनिकीकरण के लिए विशेष प्रावधान होगा

बढे हुए बजट का उपयोग भारतीय Railway के आधुनिकीकरण के लिए किया जाएगा, जिसमें तेज ट्रेनें, स्थानों को बेहतर बनाना, सुरक्षा उपायों को बढ़ाना और माल के लिए कोरिडोर बनाना शामिल है। सबसे ज्यादा धन अवस्थान और सुरक्षा उपायों के लिए दिया जा सकता है।

400 वंदे भारत और सुरक्षा उपायों पर और जोर दिया जाएगा

भारतीय Railway इस वर्ष लगभग 400 वंदे भारत एक्सप्रेस चलाने की योजना बना रही है। वर्तमान में विभिन्न मार्गों पर 41 ऐसी ट्रेनें चल रही हैं। रेल मंत्री अश्विनी वैश्णव ने हाल ही में इन ट्रेनों की गति को 130 किलोमीटर प्रति घंटे बढ़ाने की घोषणा की थी। इसके लिए , Railway ट्रैक सहित सुरक्षा उपायों में कई बदलाव करने होंगे। इसके अलावा, पिछले साल देश में कई रेल दुर्घटनाएं भी हुईं। इसलिए सुरक्षा बजट लगभग दोगुना हो सकता है।

अमृत भारत स्टेशन योजना के लिए भी पैसे मिलने की उम्मीद

इसके अलावा, अंतरिम बजट में अमृत भारत स्टेशन योजना के लिए और भी धन दिया जा सकता है। वर्तमान में इस योजना के तहत 1275 स्टेशनों के मॉडर्नाइजेशन का काम चल रहा है। इसके अलावा, भारतीय Railway ने व्यापारियों को निर्यात में मदद करने के लिए योजनाएं भी चला रखी हैं। इस बजट में उसके लिए भी पर्याप्त धन आवंटित किया जा सकता है।

Similar Posts