Ram Mandir Inauguration: Ayodhya में Ram Mandir के उद्घाटन के लिए AI की निगरानी, ग्रीन कॉरिडोर बनाने का ऐलान

Ram Mandir Inauguration: अयोध्या में राम मंदिर के उद्घाटन के लिए AI की निगरानी, ग्रीन कॉरिडोर बनाने का ऐलान

Ram Mandir Inauguration: 22 जनवरी को उद्घाटन के बाद Ram Mandir की सुरक्षा के लिए पहली बार कृत्रिम बुद्धिमत्ता (A.I.) निगरानी शुरू की जाएगी, जहां यात्री की संख्या की बड़ी वृद्धि की जाती है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि Ayodhya के लिए AI निगरानी का एक पायलट परियोजना शुरू हो सकता है। समय के साथ, यदि संभावना हो, तो इसे सुरक्षा और निगरानी की अभ्यास प्रथाओं का एक अभिन्न हिस्सा बना दिया जा सकता है।

AI निगरानी के अलावा, राम लल्ला के श्रीमुर्ति स्थापना समारोह के लिए 11,000 राज्य पुलिस और पैरामिलिटरी बलों की तैनाती हो सकती है। अधिकारी ने कहा, “Ram Mandir के लिए खतरा इतना उच्च है कि हमें Ayodhya में सभी गतिविधियों पर सख्त नजर रखनी चाहिए।” AI निगरानी सामान्य ट्रेंड्स को पहचानने में मदद कर सकती है, जैसे कि बार-बार आने वाले यात्री या लोगों के समूह, या मंदिर के परिसर में देखे जाने वाले किसी भी संदिग्ध ट्रेंड को। एक सुरक्षा चेतावनी स्वचालित रूप से जारी की जाएगी और सुरक्षा एजेंसियां आगे की कार्रवाई कर सकेंगी।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने पहले ही श्रीमुर्ति स्थान के लाल क्षेत्र में मैनुअल और वीडियो निगरानी को स्थापित कर दिया है। स्थानीय खुफिया इकाई के 38 अधिकारियों को वहां तैनात किया गया है ताकि हर गतिविधि की निगरानी की जा सके। उन्होंने कहा कि Ram Mandir के चारों ओर के हर व्यक्ति, जैसे कि टैक्सी चालक, ई-रिक्शा चालक, होटल कर्मचारी, भिक्षुक, पुजारी, निवासियों सहित सभी का सत्यापन प्रक्रिया की जा रही है, साथ ही घटना के आमंत्रित लोगों की सूची और उनके साथी या कर्मचारी को भी जांचा और सत्यापित किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि करीब 8,000 नागरिक पुलिस कर्मचारी, 26 कंपनियां पैरामिलिटरी बल और PAC की तैनाती में इस घटना में भाग लेने की संभावना है। यूपी एंटी टेरर स्क्वाड (ATS) और स्पेशल टास्क फोर्स टीम्स और नेशनल सिक्योरिटी गार्ड जैसी केंद्रीय एजेंसियां भी तैनात की जाएंगी। घटना के दिन, सभी सड़कें Ayodhya की सभी दिशाओं में जाने वाली सभी सड़कों पर रुकावट की जाएगी। यह सुनिश्चित करने के लिए कि आगंतुकों को कोई समस्या ना हो, इन सड़कों को अतिक्रमणों से मुक्त किया जाएगा।

सड़कों पर हरित मार्ज की जाएगी

Ram Mandir के श्रीमुर्ति स्थापना समारोह के लिए आमंत्रित किए गए अतिथियों के लिए Ayodhya की दिशा में जाने वाली विभिन्न दिशाओं की रास्तों पर विशेष रूप से साफ किए गए मार्ज, जिन्हें हरित मार्ज कहा जाएगा, बनाए जाएंगे। Ayodhya डिवीजनल कमिश्नर गौरव दयाल ने कहा कि आमंत्रित यात्री इन हरित मार्जों से जा रहे होंगे, जिनमें लखनऊ, वाराणसी, गोरखपुर, प्रयागराज और आजमगढ़ जिलों से Ayodhya की दिशा में जाने वाले रास्तों शामिल होंगे।

आगे की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि इन हरित मार्जों से जा रहे अतिथियों को आमंत्रण पत्र, Ram Mandir ट्रस्ट द्वारा बनाए गए बारकोड और फोटो पहचान पत्र साथ लेकर जाना होगा। Ayodhya और उसके आस-पास के स्थानों को इस समारोह के लिए पहले ही लार्ज संख्या में सुरक्षा कवर किया गया है। इसके अलावा सभी गतिविधियों को रोक दिया जाएगा। कमिश्नर ने कहा कि सभी प्रवेश स्थलों से सभी यात्रीगण को रुका जाएगा, लेकिन होटल में बुकिंग करने वाले बाहरी तीर्थयात्री को प्रवेश की अनुमति दी जा सकती है।

आगे विवरण प्रदान किया गया, जिसमें कहा गया कि इन हरे गलियारों का उपयोग करने वाले मेहमानों को निमंत्रण, Ram Mandir ट्रस्ट द्वारा जारी बार कोड और एक फोटो पहचान पत्र लाना होगा। समारोह से लगभग 48 घंटे पहले, Ayodhya और उसके आसपास के इलाके व्यापक सुरक्षा घेरे में रहेंगे और सभी गतिविधियां प्रतिबंधित रहेंगी। आयुक्त ने उल्लेख किया कि सभी यातायात को प्रवेश बिंदुओं से डायवर्ट किया जाएगा, लेकिन होटल बुकिंग वाले तीर्थयात्रियों को प्रवेश की अनुमति दी जा सकती है।

सुरक्षाकर्मियों और सरकारी अधिकारियों को ठहराने के लिए Ayodhya प्रशासन ने पहले ही बड़ी संख्या में होटल के कमरे सुरक्षित कर लिए हैं। आयुक्त ने बताया कि मंदिर ट्रस्ट की ओर से अतिथियों के ठहरने की व्यवस्था होटलों और टेंट सिटी में की गई है। कुछ मेहमानों ने अपने आवास की व्यवस्था भी की है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *