Tunnel Rescue:Baba Baukhnag के Pashwa आए, बोले...बेटा सबको सुरक्षित रखूंगा, जानें क्या है मंदिर की मान्यता

Tunnel Rescue:Baba Baukhnag के Pashwa आए, बोले…बेटा सबको सुरक्षित रखूंगा, जानें क्या है मंदिर की मान्यता

Baba Baukhnag: Uttarkashi की Silkyara Tunnel में फंसे 41 मजदूरों को बचाने के लिए टीम और तकनीक के साथ-साथ आस्था का भी इस्तेमाल किया जा रहा है। क्षेत्र के ग्रामीणों के दबाव में कंपनी प्रबंधन ने अब सुरंग के बाहर बौखनाग देवता का एक मंदिर स्थापित किया है।

इससे पहले इस मंदिर को हटाकर tunnel के अंदर कोने में स्थापित किया गया था। यहां बचाव अभियान में इस्तेमाल होने वाली हर मशीन को शुरू करने से पहले उसकी पूजा की जा रही है। मंगलवार को Puja भी की गई।

Baba Boukhnag Devta के Pashwa Ganesh Prasad का कहना है कि देवता सुरंग के अंदर फंसे सभी लोगों को सुरक्षित रखेंगे। जल्द ही सभी बाहर आ जाएंगे। उन्होंने प्रशासन से सुरंग के पास Baba Baukhnag देवता का एक भव्य और विशाल मंदिर बनाने की मांग की।

Baba Boukhnath Silkiara सहित क्षेत्र की तीन पट्टियों के अधिष्ठाता देवता हैं। यह Nagraj का मंदिर है। यहाँ केवल Baba Baukhnag की पूजा की जाती है। Baba Baukhnag देवता को इस क्षेत्र का रक्षक माना जाता है। ग्रामीणों का कहना है कि जहां Silkyara Tunnel का निर्माण किया गया है।

इसके पास देवता का एक मंदिर बनाने की चर्चा थी, लेकिन बाद में निर्माण में शामिल कंपनी ने मंदिर का निर्माण नहीं किया। ग्रामीणों का मानना है कि यह दुर्घटना भगवान की नाराजगी के कारण हुई है।

उन्होंने सभी की सुरक्षा के लिए Baba Boukhnag मंदिर के निर्माण के लिए सुरंग के पास की जगह छोड़ने की मांग की। Pashwa Ganesh Prasad ने बताया कि देवता उन पर आ गए हैं और उन्होंने अंदर फंसे सभी श्रमिकों की सुरक्षा का आश्वासन दिया। गाँव के Rajesh Silwal ने कहा कि Baba Boukhnag यहाँ बहुत सम्मानित हैं। मंगसीर के महीने में यहाँ Baba का एक विशाल मेला भी आयोजित किया जाता है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *