Uttarakhand High Court ने आउटसोर्स कर्मचारियों की नौकरी समेत हटाने के आदेश पर रोक लगाई, अगली सुनवाई फरवरी में

Uttarakhand High Court ने आउटसोर्स कर्मचारियों की नौकरी समेत हटाने के आदेश पर रोक लगाई, अगली सुनवाई फरवरी में

Nainital: वन विभाग में आउटसोर्स कंपनियों द्वारा नियुक्त लगभग एक हजार कर्मचारियों को High Court से बड़ी राहत मिली है। विभाग ने इन कर्मचारियों की सेवाएं 17 नवंबर 2023 को समाप्त कर दी थी। अब न्यायालय ने इन कर्मचारियों को हटाने के आदेश को रोका है।

Court ने सरकार से आदेश दिया है कि इन कर्मचारियों को अब तक सम्मान भुगतान करना चाहिए और उन्हें समय पर सम्मान देना चाहिए। वेतन किस आइटम से चुकाया जाए, यह सरकार का निर्णय है। न्यायाधीश पंकज पुरोहित के एकल बेंच ने इस मामले में विस्तृत अफीडेविट प्रस्तुत करने के लिए छह हफ्तों के भीतर निर्देश दिए और फरवरी के लिए अगली सुनवाई की तारीख तय की है।

कौन ने याचिका दाखिल की?

उपनल सहित अन्य आउटसोर्स कंपनियों के माध्यम से वन विभाग में सेवा कर रहे थे 2187 कर्मचारी। 17 नवंबर को, सरकार ने एक अधिसूचना जारी की जिसमें विभाग को पुनर्व्यवस्थित करने और 1113 पदों को आउटसोर्स एजेंसी के माध्यम से भरने के निर्देश दिए गए थे। जिस पर अल्मोड़ा के दिनेश परिहार और देहरादून के दिनेश चौहान और अन्यों ने High Court में याचिका दाखिल की थी।

याचिकाकर्ताओं की राय

याचिकाकर्ताओं ने कहा कि उन्होंने उन पदों को भरने के लिए निर्देश दिए गए हैं जिन पर वे वर्षों से काम कर रहे थे। अन्य आउटसोर्स कंपनियों के माध्यम से और लोगों को आउट ऑफ सर्विस करना गलत है।

इस मामले में, Court ने वन विभाग के मुख्य संरक्षक और मुख्य संरक्षक वन (मानव संसाधन) की ओर से भी सुनवाई की। वन विभाग ने सरकार के फैसले को उच्चित राशि के सैंक्षित पदों के अधिशेष में ताकत लगाई गई है। नियुक्तियां केवल रिक्त पदों के खिलाफ की जानी थीं।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *