"Uttarkashi: वन विभाग के officers ने दरवाजे, खिड़की, पल्ले, और अलमारी, टॉयलेट तक का पैसा खा गए, वन विभाग में अंधेरगर्दी"

“Uttarkashi: वन विभाग के officers ने दरवाजे, खिड़की, पल्ले, और अलमारी, टॉयलेट तक का पैसा खा गए, वन विभाग में अंधेरगर्दी”

Uttarkashi जिले के Purola में स्थित गोविन्द वन्यजीव संरक्षित क्षेत्र और Supin Range के राष्ट्रीय पार्क में वन अधिकारियों ने वन आराम घरों की मरम्मत के नाम पर सरकारी धन के लाखों रुपये को अवयवन किया है। उन दिनों यहां पोस्ट के अधिकारी ने दरवाजों, खिड़कियों, दरों और अलमारी, वन आराम घर की मरम्मत के नाम पर पैसे खा गए।

इस मामले की जाँच भी की गई, लेकिन उच्च अधिकारी अपने पसंदीदों की सुरक्षा के लिए अंधा आँख मरोड़ दी। यह मामला वर्ष 2021 का है। तब के उप निदेशक DP Baluni ने शिकायत के बाद रेंज में काम की जाँच की थी। जाँच की जिम्मेदारी को तब के वन रेंज अधिकारी Jwala Prasad, वन निरीक्षक Rajendra Singh, Harish और Dinesh Singh को सौंपी गई थी।

कई चौंकादेने वाले तथ्य सामने आए

इस टीम द्वारा रेंज में की गई काम की जाँच के बाद दी गई रिपोर्ट ने बहुत सारे चौंकादेने तथ्यों को दर्शाया। इसकी चरणबद्ध आपके सामने प्रस्तुत कर रहा है। Supin range के तहत Jakhol वन आराम घर की मरम्मत के लिए एक ठेकेदार को 4 लाख रुपये का भुगतान किया गया था।

लेकिन जाँच से पता चला कि कई काम ऐसे थे जिनके लिए भुगतान किया गया था, लेकिन काम स्थान पर नहीं किया गया था। इनमें आराम घर के कमरों की पुनर्चित्रण, पानी की फिटिंग बदलना, दरवाजों, खिड़कियों, अलमारियों आदि का काम शामिल था, रोशनी की फिटिंग, शौचालय का सुधार। कुल 20 कामों के लिए भुगतान किया गया था, जबकि 11 काम नहीं किए गए थे, जो कुछ किया गया था, वह भी आधा-तैयार था। इस तरह, तब के वन अधिकारी बिना काम किए ठेकेदार को पैसे देकर सरकारी धन को अवयवन करने का प्रयास किया।

Natewad में बिना किसी काम के चार लाख रुपए

Supin range के तहत वन आराम घर Natiwad की मरम्मत के नाम पर चार लाख रुपये खर्च किए गए थे। जिला योजना के तहत जारी किए गए इस पैसे का काम न करने या आधा-पका काम करने के बावजूद इसे भुगतान किया गया। इस मामले में ही कापी (MB) भी गायब हो गई, जबकि इस पर FIR भी नहीं दर्ज की गई। यहां, Van Aaram Ghar की मरम्मत के नाम पर दो लाख रुपये और दीवार पर कोने लगाने के नाम पर दो लाख रुपये के क्रॉस होने की बात है।”

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *